1 दिन में 80 लाख लोगों ने करवाया रजिस्ट्रेशन, लेकिन नहीं मिली वैक्सीनेशन की तारीख, जानें क्यों

0
24

18 से अधिक आयु वाले लोगों के लिए कल से कोरोना वैक्सीनेशन की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू हो गई है। लोगों को तीन ऐप के जरिए वैक्सीनेशन पंजीकरण कराने की सुविधा दी गई है। हालांकि एकदम से ट्रैफिक बढ़ने के कारण कल कई लोगों का रजिस्ट्रेशन नहीं हो सका। जानकारी के अनुसार दोपहर 3 बजकर 54 मिनट से Co-Win App, आरोग्य सेतु ऐप और Umang App ने काम करना बंद कर दिया। तीनों ऐप और वेबसाइट्स पर ट्रैफिक बढ़ गया। जिसके कराण फोन पर OTP आना बंद हो गया। ऐसा होने से कई लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा और चाहकर भी अपना पंजीकरण वो नहीं करवा पाए।

लोगों के अनुसार रजिस्ट्रेशन के लिए जब उन्होंने लॉग-इन किया तो उनके मोबाइल में OTP आना था। लेकिन लंबे समय तक इंतजार करने के बाद भी उनका OTP नहीं आया और इस तरह से उनका रजिस्ट्रेशन पूरा नहीं हो सका।

हालांकि जल्द इस समस्या को हल कर लिया गया और शाम 7 बजे तक करीब 80 लाख लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवा लिया। सरकार के अनुसार बढ़ चढ़कर लोग अपना रजिस्ट्रेशन करवा रहे हैं। हर सेकेंड 55 हजार लोग रजिस्ट्रेशन करने के लिए Cowin App पर लॉग इन कर रहे हैं।

नहीं दी गई तारीख

भारी संख्या में लोगों द्वारा कोरोना की वैक्सीन लगवाने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया जा रहा है। लेकिन रजिस्ट्रेशन के बाद लोगों को वैक्सीन लगवाने की तारीख नहीं दी गई है। बताया जा रहा है कि ये तारीख उन्हें तब बताई जाएगी, जब राज्य सरकार और प्राइवेट अस्पताल लोगों की संख्या के अनुसार शेड्यूल तय कर लेंगे।

गौरतलब है कि इस समय देश में केवल 45 से अधिक आयु के लोगों को ही कोरोना का टीका लग रहा है। वहीं एक मई से देश में 18 व उससे अधिक आयु के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू कर दिया जाएगा। वैक्सीनेशन के लिए केवल ऑनलाइन ही रजिस्ट्रेशन हो रहा है। सरकार का लक्ष्य है कि वो 15 अगस्त तक देश के हर नागरिका का टीकाकरण करवा दे। वहीं कई राज्य सरकारों 18 व इससे अधिक आयु के लोगों को मुफ्त में कोरोना का टीका लगाने का ऐलान भी कर दिया है। हालांकि केवल सरकारी अस्पतालों में ही ये फ्री का टीका लगाया जाएगा। जबकि निजी अस्पातलों में वैक्सीनेशन करवाने के लिए पैसे चुकाने होंगे।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here