‘पति के धर्म का सम्मान है लेकिन ये नही की मुस्लिम बन जाऊं’ – ये क्या बोली गौरी खान

शाहरुख खान और उनकी पत्नी गौरी खान रियल लाइफ में परफेक्ट कपल हैं। दोनों जब भी किसी पब्लिक प्लेस पर नजर आते हैं तो पूरी लाइमलाइट छीन लेते हैं। शाहरुख खान और गौरी खान पर सबकी निगाहें हैं।

गौरी को कई बार शाहरुख के साथ इंटरव्यू में भी देखा जाता है। एक बार ऐसे ही एक इंटरव्यू में गौरी खान ने खुलासा किया था कि एक ही बात को बार-बार पूछने और हर बार एक ही जवाब दोहराने से वह परेशान हो जाती हैं। धर्म परिवर्तन को लेकर बार-बार पूछे जाने वाले सवाल को लेकर गौरी खान ने उनसे यह बात कही थी।

जी दरअसल गौरी खान एक बार ऋतिक रोशन की एक्स वाइफ सुजैन खान के साथ चैट शो कॉफी विद करण सीजन-1 में पहुंची थीं. इस दौरान दोनों ने साथ में करण जौहर के साथ कई मुद्दों पर बात की। कॉफ़ी विद करण में गौरी से एक मुस्लिम परिवार में शादी करने और उनके धर्म में अंतर के बारे में पूछा गया था।

तब गौरी खान ने कहा था कि दुर्भाग्य से शाहरुख के माता-पिता नहीं हैं। अगर वे होते तो बुजुर्ग घर की चीजों का ख्याल रखते। हमारे घर में ऐसा कुछ नहीं है। दिवाली, होली या किसी अन्य त्योहार की जिम्मेदारी लेना मेरे ऊपर है। इसलिए मेरे बच्चों पर हिंदू धर्म का बहुत प्रभाव पड़ेगा।

लेकिन बात यह है कि आर्यन शाहरुख के ज्यादा करीब हैं। इसलिए वह अपने धर्म का पालन करता है। मुझे लगता है कि वह हमेशा कहेंगे कि मैं मुसलमान हूं। जब वह मेरी मां को यह बताता है तो वो कहती है तुम्हारी इस बात का क्या मतलब है?’

शाहरुख खान की पत्नी गौरी खान ने इस बारे में और भी बात की थी। चैट शो में गौरी ने कहा था, ‘हमारे यहां एक संतुलन है। मैं शाहरुख के धर्म का सम्मान करती हूं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मैं धर्मांतरित हो जाऊंगी और मुस्लिम बन जाऊंगी।

मैं इन सब में यकीन नहीं करती हूं। मुझे लगता है कि हर किसी का अपना अस्तित्व है और वो अपने धर्म का पालन करता है। लेकिन जाहिर है किसी का कोई अनादर नहीं होना चाहिए। जैसे कि शाहरुख मेरे धर्म का कभी अपमान नहीं करेंगे।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.