KANPUR : लव जेहाद केस में SIT की जांच पूरी, पहचान छिपाकर आ रोपियों ने लड़कियों को फंसाया

कानपुर : जिले के बर्रा, नौबस्ता और कई जगहों से लगातार आए लव जेहाद के मामलों के बाद इन मामलों की जांच के लिए एसआईटी टीम गठित की गई थी. अब टीम ने लव जि हाद मामलों की जांच पूरी कर ली है. एसआईटी रिपोर्ट में कई चौंकाने वाले तथ्यों का खुलासा हो सकता है.

आरोप है कि कानपुर में एक समुदाय विशेष के युवक अपनी धार्मिक पहचान छिपाकर दूसरे समुदाय की युवतियों को प्रेमजा ल में फं साते थे.

इसके बाद उनका ब्रेनवॉश, जब रन धर्म परिवर्तन और फिर निकाह होता था.आईजी जोन मोहित अग्रवाल ने बताया कि एसआईटी ने लव जि हाद के इन मामलों में पाया कि 4 लड़के आपस में एक-दूसरे के संपर्क में थे.

इन्होंने दूसरे धर्म की लड़कियों के साथ छल कर उनके साथ निकाह किया. इसके अलावा तीन मामलों में आरोपी लड़कों ने अपना हिंदू नाम बताकर लड़कियों को अपने जाल में फं साया. हालांकि बतौर आईजी लव जि हाद के इन मामलों में एसआईटी को विदेशी फंडिंग के सबूत नहीं मिले.

संगठित सा जिश के भी प्रमाण सामने नही आए. दूसरे धर्म की लड़कियों से निकाह करने के लिए आ रोपियों ने लड़कियों का नाम और धर्म परिवर्तित कराया. नाम और धर्म परिवर्तन की प्रक्रिया में का नून का पालन नहीं किया गया. पु लिस इन मामलों में आगे की कार्रवाई करेगी.

कई मामले आए थे सामने :

गौरतलब है कि कानपुर की जूही कॉलोनी और नौबस्ता इलाके में लव जि हाद के कई मामले सामने आए थे. जिसके बाद कई लड़कियों के परिजनों ने सा जिशन प्यार में फं साने और धर्म परिवर्तन कराने का आ रोप लगाया. जिसके बाद हिंदू संगठनों ने भी इसका वि रोध किया. जिसके बाद आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने एसआईटी गठित कर मामले की जांच का आदेश दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.