कास्टिंग काउच से बचने के लिए ये ट्रिक अपनाती थी मदालसा शर्मा, मिथुन की बहू ने किया खुलासा

अक्सर देखा गया है कि बॉलीवुड इंडस्ट्री में बहुत सी लड़कियां अपना करियर बनाने के लिए आती हैं परंतु वह कास्टिंग काउच का शिकार हो जाती हैं। बॉलीवुड इंडस्ट्री का एक घिनौना सच कास्टिंग काउच है, जिसके अंदर अपना करियर बनाने के चक्कर में बहुत सी लड़कियां फंस चुकी हैं।

ज्यादातर लड़कियां कास्टिंग काउच को लेकर ज्यादा नहीं बोलती हैं परंतु कुछ ऐसी अभिनेत्रियां भी हैं, जिन्होंने कास्टिंग काउच को लेकर अपना अनुभव शेयर किया है। इसी लिस्ट में सीरियल “अनुपमा” में नजर आ चुकी अदाकारा मदालसा शर्मा भी हैं, जो सीरियल अनुपमा में काव्या का किरदार निभा रही हैं।

 

आपको बता दें कि मदालसा शर्मा बॉलीवुड के स्टार मिथुन चक्रवर्ती की बहू भी हैं। मदालसा शर्मा भी कास्टिंग काउच की शिकार हो चुकी हैं। मदालसा शर्मा ने “अनुपमा” सीरियल से घर-घर में अच्छी खासी लोकप्रियता हासिल की है। एक इंटरव्यू के दौरान मदालसा शर्मा ने अपने कास्टिंग काउच का अनुभव शेयर किया है। उन्होंने बताया है कि ऐसा नहीं है कि इस तरह की घटनाओं से वह प्रभावित नहीं होती, मगर ऐसी परिस्थिति में क्या होता है, यह आपकी मर्जी पर निर्भर करता है।

आपको बता दें कि मदालसा शर्मा मिथुन चक्रवर्ती के बेटे महाक्षय चक्रवर्ती की पत्नी हैं और वह रूपाली गांगुली के साथ टीवी धारावाहिक “अनुपमा” में अहम किरदार निभा रही हैं। मदालसा शर्मा ने एक इंटरव्यू के दौरान इंडस्ट्री में लोगों को फायदा उठाने पर बातचीत की थी। Etimes की रिपोर्ट के अनुसार, मदालसा शर्मा ने कहा कि “आपकी मर्जी आपसे कोई नहीं छीन सकता। लोग आपको प्रभावित करने की कोशिश कर सकते हैं लेकिन प्रभावित हो जाना बिल्कुल अलग चीज है।”

जब मदालसा शर्मा से इंटरव्यू के दौरान यह पूछा गया कि क्या कभी उनका गलत फायदा उठाने की कोशिश की है? तो इस पर मदालसा शर्मा ने बताया कि “लड़की होने के नाते या आज के वक्त में लड़का भी, दोनों का ही किसी भी प्रोफेशन में होना खतरनाक है। चाहे ऐक्ट्रेस हो या कारपोरेट फर्म, जहां भी आप जाएंगे महिलाओं के लिए पुरुष आसपास मंडराने लगते हैं। कभी-कभी ऐसे लोग भी मिलते हैं जिन्हें आप एक व्यक्ति, एक्टर या एम्प्लॉई के तौर पर उतना नहीं देना चाहते जितनी वह इच्छा रखते हैं।”

मदालसा ने बताया “यह आपकी मर्जी है। अच्छी और बुरी चीजें साथ साथ चलती हैं लेकिन आखिर में आपकी मर्जी आपसे कोई नहीं छीन सकता।” मदालसा शर्मा ने अपना अनुभव साझा करते हुए यह बताया कि “पर्सनली अगर मुझे कभी किसी की मौजूदगी में असहज महसूस होता है तो मैं बस उठती हूं दरवाजे से बाहर चली जाती हूं। कोई मुझे रोकने वाला नहीं और ना ही दरवाजा बंद करके जाने से रोक सकता है। इसलिए यह हमेशा मेरी पर्सनल चॉइस रहती है।”

बताते चलें कि मदालसा शर्मा ने साल 2011 में आई फिल्म “एंजेल” से अपना बॉलीवुड सफर शुरू किया था। उससे पहले वह साल 2009 में तेलुगु फिल्म फिटिंग मास्टर और कन्नड़ फिल्म शोर्य में काम कर चुकी थीं। मदालसा शर्मा कुछ विज्ञापनों में भी काम कर चुकी हैं जिनसे उनको अच्छी खासी लोकप्रियता हासिल हुई थी परंतु धारावाहिक अनुपमा में काव्य के रूप में उनकी भूमिका ने उन्हें अपार लोकप्रियता दिलाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.