कौन थे विंग कमांडर पृथ्‍वी सिंह चौहान, जानिये

इस समय तमिलनाडु देश के अंदर सुर्खियों में है, दरअसल तमिलनाडु में वायुसेना के हेलीकॉप्टर हादसे में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ यानी सीरियस जनरल बिपिन रावत समेत 13 लोगों की मौत हो गई है. आगरा में रहने वाले वायु सेना के विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान द्वारा उड़ाए जा रहे हेलीकॉप्टर का भी यही हाल है!

रिपोर्ट के मुताबिक, वायुसेना के अफसर भी विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान के एमआई-17 हेलिकॉप्टर को उड़ाने के हुनर ​​के दीवाने थे. सूडान में विशेष प्रशिक्षण लेने के बाद पृथ्वी की गणना वायु सेना के वीर पायलटों में की जाती थी। इस घटना में आगरा के रेड विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान की भी मौत हो गई। अब उनका परिवार भी सदमे में है। हेलीकॉप्टर हादसे की खबर के बाद उनके आगरा स्थित घर पर परिजन और परिजन जमा हो गए हैं और लोग परिवार को सांत्वना दे रहे हैं.

‘चार बहनों में इकलौता भाई’

विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान का घर न्यू-आगरा इलाके में है, जहां खबर फैलने के बाद धीरे-धीरे उनके घर पर भीड़ जमा होने लगी. इसके बाद आगरा के एसीएम कृष्णानंद तिवारी और पुलिस अधिकारी भी विंग कमांडर के घर पहुंचे. पृथ्वी की बहन को इस बात का अफसोस था कि वह हम चारों में इकलौता भाई था। वह चारों की जान थे।

बता दें कि जनरल रावत बुधवार को कोयंबटूर के पास सुलूर स्थित वायुसेना अड्डे से वेलिंगटन के डिफेंस स्टाफ कॉलेज में वायुसेना के एमआई 15 हेलीकॉप्टर से कार्यक्रम में शामिल होने के लिए रवाना हुए थे.

सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत, रक्षा सहायक, सुरक्षा कमांडो और भारतीय वायु सेना के एक पायलट हेलीकॉप्टर में सवार थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *